What is DHCP definition (Dynamic Host Control Protocol)

DHCP definition (Dynamic Host Control Protocol)

 
DHCP definition : DHCP एक Network Protocol है जो की सर्वर से connected network computers को एक defined range (Scope) मे automatically IP Address देने के काम मे आती है| 
DHCP Server

DHCP Server

 
Read Also – What is Domain Name
जब एक network का computer start होता है एवं उस कंप्यूटर की DHCP Client service होती है, वो क्लाइंट सर्विस चेक करती है की कंप्यूटर मे static IP address है या computer मे DHCP की setting है| अगर Computer मे DHCP की सेटिंग होती है तो कंप्यूटर DHCP Client service के जरिये DHCP server से IP Address के लिए request करता है| server को जब request मिलती है तो वो उस कंप्यूटर की validity को चेक करने के बाद अपने defined range (scope) and rules के अनुसार एक IP address रिज़र्व करके उस computer को भेज देता है| इस प्रकार उस नेटवर्क computer को IP address मिलता है 
DHCP के फायदे :- 
Reliable IP address configuration – जब किसी network मे DHCP को use किया जाता है तो यह manual IP configuration की तुलना मे IP configuration errors कम करता है जैसे की typographical errors, IP address duplication आदि |
Network administration मे लगने वाला time बचाता है : किसी network मे DHCP configuration करने से system and network administrator के मैन्युअल task को कम करता है | देखिये कैसे –
  1. क्योकि यह clients को Centralized and automated TCP/IP configuration करता है |
  2. Clients के IP address को easily schedule time पर update करता है |

4 Comments

  1. ayush rajvanshi June 8, 2016
  2. shailendra singh June 24, 2016
  3. jitendra September 15, 2016
  4. Rafique October 17, 2016

Leave a Reply