शेयर्ड वेब होस्टिंग क्या होती है What is shared web hosting meaning in Hindi

Shared web hosting

अगर आप अपनी website के लिए hosting plan choose करने की सोच रहे है तो आपने different websites पर shared web hosting के plans जरूर देखे होंगे या बहुत सारे लोगो ने आपको shared web hosting suggest भी किया होगा | अगर आप एक small budget मे hosting plan choose करना चाह रहे है तो shared web hosting बहुत अच्छा option है लेकिन आप shared web hosting choose करे उससे पहले इसके बारे मे जान लेना बहुत जरुरी है क्योकि अगर आप केवल low budget सोच कर hosting choose करेंगे और बाकी फायदे और नुकसान के बारे मे नहीं पता होगा तो आपकी website or business को नुकसान भी हो सकता है क्योकि shared web hosting सस्ती होने के साथ साथ सभी की requirement मे fit नहीं होती है |

shared web hosting

shared web hosting

Web Hosting Kya hai : कोई भी इंटरनेट से आपकी वेबसाइट को access कर पाए उसके लिए website की files and databases को internet पर किसी server पर host करना होता है जिसे web hosting कहा जाता है | ये server जिस पर आपकी website files, database and software host होता है, internet से हमेशा connect रहता है एवं internet use करने वाले user कभी भी web site को कही से भी access कर सकते है | जब आप अपनी site को server पर host करते है तो आपके पास सबसे कम budget का एवं popular option shared web hosting मिलता है |

Shared web hosting क्या है : यह web hosting मे सबसे popular और सबसे कम expensive hosting service होती है | Shared hosting का मतलब है की आपकी website जिस server पर host होती है वहां पर दूसरी websites भी host होती है और जब एक server पर बहुत सारी websites host होती है तो वो सभी website server के resources जैसे की memory, storage, cpu, bandwidth आदि को share करती है | आपके पास आपके hosting account का complete access होता है जिस पर आप ftp या hosting provider के software से account manage कर सकते है | Shared hosting plans की price कम होने का reason है की एक साथ बहुत सारी website एक single server पर host होती है और server के साथ internet bandwidth की cost सभी website owner के बिच share होती है | यह एक individual and small to medium size business जिन पर बहुत जयदा traffic नहीं होता एवं कम resources की जरूरत होती है के लिए best economical solution है | लेकिन अगर website का traffic increase होता है तो customers के पास VPS, dedicated hosting के option available होते है जिन पर वो switch कर सकते है लेकिन ये shared web hosting की तुलना मे महंगे होते है |

वेबसाइट ओनर and होस्टिंग कंपनी की क्या जिम्मेदारी होती है ? 

Shared web hosting मे provider company सभी तरह की server maintenance के लिए responsible होता है जैसे की installing server software, security updates, technical support, software and hardware upgrade आदि | 

Website owner केवल website के लिए responsible होते है | वेबसाइट ओनर को एक control panel मिलता है जिस पर login करके वो अपनी site की files को upload कर सकते है, web site का traffic monitor कर सकते है, email setup and applications install कर सकते है |

Read Also What is Domain Name (DNS) अच्छे डोमेन नाम कैसे और कहाँ से purchase करे

Shared Hosting क्यों choose करे ?

हो सकता है की shared web hosting आपकी requirements मे fit नहीं होता हो लेकिन shared hosting फिर भी सबसे popular web hosting platform है | यह सभी hosting plans मे से सबसे ज्यादा affordable hosting option है | ज्यादतर individuals, small-medium sized businesses जिनकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं होता है वो shared hosting environment को prefer करते है

Shared web hosting के कुछ advantages है जिन की वजह से आप शेयर्ड वेब होस्टिंग को choose कर सकते है – 

  1. Price – यह सभी hosting plans मे से सबसे सस्ती hosting है जिसकी Monthly fees बहुत कम होती है | अगर आप half-yearly or yearly plan choose करते है तो आपको monthly की तुलना मे और भी ज्यादा discount offer किया जाता है |
  2. Extendibility – सभी companies shared web hosting मे बहुत सारे plan and package offer करती है | आपकी requirement के according आप suitable package choose कर सकते है | सबसे small package आपको limited domain, lowest disc space एवं bandwidth अलॉट करता है लेकिन अच्छे package मे additional features जैसे की more disc space, more website and bandwidth के option available है | आप आपकी जरुरत की हिसाब से package upgrade कर सकते है |
  3. Features – आज की date मे competition ज्यादा होने की वजह से hosting provide कम price मे अच्छे features provide कर रहे है | ये features आपकी needs को जरूर suit करेंगे जैसे popular scripts का one click installation जो की आपकी website की functionality को add करने का काम करते है | 

Shared web hosting के नुकसान : Shared web hosting वैसे तो बहुत लोगो की requirement मे fit बैठती है लेकिन ये भी हो सकता है की shared environment आप के लिए fit न भी हो जैसे की high traffic website etc –

  1. Performance – अगर आपकी site ऐसी site के साथ host है जिसका traffic कभी भी unexpected बढ़ता घटता रहता है तो वो आपकी website के साथ दूसरी website की performance को भी हिट करता है |
  2. File Restrictions – Server पर hosted सभी website को web hosting company की guideline or software पर depend होना होता है क्योकि ये shared environment होता है hosting company की security की वजह से आप सभी तरह के script or software install नहीं कर सकते | हो सकता है की आप जो application run करना चाहते है वो restrict होने की वजह से run न कर पाए | 
  3. Resource Restrictions – वैसे तो ज़्यदातर companies unlimited resources claim करती है लेकिन अगर आप अच्छी तरह से notice करे या guideline देखे तो यह पूरी तरह सही नहीं है | अगर आपकी site shared hosting पर है और popular हो जाती है तो आपकी website पर ज्यादा traffic होने की वजह से कभी भी down हो सकती है क्योकि हक़ीक़त मे resources shared and limited होते है | वेबसाइट down होने का कारण shared environment मे जरुरत के हिसाब से resources एंड bandwidth नहीं मिल पाना है | 
  4. Shared environment मे सभी website अगर normal traffic की हो तभी भी दूसरी website की कमी (poorly built or designed) की वजह से आपकी website की performance or working पर प्रभाव पड़ सकता है | हो सकता है की किसी वेबसाइट पर ऐसी कोई scripts and प्रोग्राम्स रन होते हो जिनको की जयदा system resource चाहिए हो तो इस केस मे तो आपकी website suffer करती है | अगर shared hosting पर कोई website SPAM script run कर देता है तो आपकी website की security भी risk मे होती है | जब ऐसे होता है तो आपकी website unreliable हो जाती है | वेबसाइट के pages slowly ओपन होंगे या ओपन ही ना हो, scripts and databases सही तरह से रन ना हो एवं entire server ही unstable हो जाए | इस केस मे technician को सर्वर रिबूट करना पड़ता है जिससे की सर्वर पर होस्टेड सारी वेबसाइट कुछ देर के लिए डाउन हो जाती है 

Leave a Reply