What is Mesh Network Topology Definition | Mesh Topology kya hai

Describe Mesh Network Topology

Mesh network टोपोलॉजी मे each network node, computer एवं दूसरी devices आपस मे एक दूसरे से interconnected होती है हर एक node न केवल अपने device के signals भेजती है बल्कि दूसरी devices से डेटा receive भी करती है | Most computers Networks मे Mesh topology commonly use नहीं होती है क्योकि यह difficult एवं expensive है | इस topology को जायदातर wireless network मे use करते है Mesh Topology Example – 

Mesh Network Topology

Mesh Network Topology

Type of Mesh Topology –  1) Full 2) Partial 

Full Network Topology – Full Mesh Topology मे हर component एक दूसरे से आपस मे connected होता है Mesh का advantage है की अगर नेटवर्क मे एक node down होती है तो नेटवर्क traffic दूसरी node पर redirect हो जाता है Full mesh topology केवल backbone नेटवर्क्स मे use करना better होता है | 

Partial Network Topology -पार्शियल मे कुछ systems mesh topology की जैसे ही कनेक्टेड होते है जबकी बाकी के systems केवल 1 or 2 devices से कनेक्टेड होते है | partial mesh मे workstations ‘indirectly’ दूसरी devices से connected होते है |  This one is less costly and also reduces redundancy.

Advantages of Mesh topology-

1) Data different devices से simulanteously transmit किया जा सकता है | high ट्रैफिक मे भी यह topology better perform कर सकती है| .
2) इसमें एक नोड डाउन होने पर भी डेटा ट्रांसफर affected नहीं होता क्योकि there is always an alternative present 

3) नेटवर्क की दूसरी nodes को disturb किये बिना ही नेटवर्क Expansion and modification easily किया जा सकता है |

Disadvantages of Mesh topology

1) Network कनेक्शन्स मे redundancy के chances ज्यादा होते है |
2) दूसरी topology की तुलना मे cost of this network हमेशा high होती है |
3) Set-up and maintenance डिफिकल्ट होता है

Read Topologies Here – 
6. Hybrid Topology

Leave a Reply