Difference between NTFS and FAT file systems

FAT Vs NTFS, What is the difference between FAT32 and NTFS, Comparison between NTFS and FAT File System

File System :-  फाइल सिस्टम, हार्ड डिस्क मे डेटा को organize करते हुए data store करने का एक method होता है | जब आप एक नयी हार्ड डिस्क को फॉर्मेट करके partition create करते है तो आपको फाइल सिस्टम decide करना होता है | Microsoft Windows मे main three फाइल सिस्टम है – old FAT16, FAT32 and NTFS –  

FAT32 :- FAT is short form of File Allocation Table जो की 1977 मे introduce हुआ था जबकि FAT32 MS-DOS 7.1 / Windows 95 OSR2 के साथ 1996 मे introduce हुआ था | | FAT32 मे 32 बताता है number of bits needed to keep track of the files | जब तक 4GB हार्ड डिस्क नहीं आई थी FAT16 बहुत पॉपुलर था उसके बाद FAT32 use मे आने लगा | FAT32 मे “4 GB minus 1 byte” or 4,294,967,295 (232 − 1) bytes सबसे बड़ी फाइल साइज पॉसिबल है | 
 
क्योकि boot Sector, sector count के लिए 32-Bit फील्ड use करता है, FAT32 का volume size (hard disk) 2 TB (with sector size of 512 bytes) ज्यादा नहीं हो सकता एंड 16 TB maximum है 4,096 bytes के sector size के लिए | 
 
Difference between FAT32 and NTFS (FAT Vs NTFS) 
 
1. NTFS मे Disk related error से रिकवर करने कि capability FAT32 से जयदा होती है | 
2. NTFS ज्यादा बड़ी hard disk साइज को सपोर्ट कर सकता है | 
3. NTFS मे FAT32 से ज्यादा security होती है क्योकि NTFS मे permission and encryption options है जो की फाइल्स एंड फ़ोल्डर्स access को restrict कर सकता है | 
4. FAT32 मे फाइल साइज लिमिटेशन है जो की NTFS नहीं है | Windows के FAT32 मे 32 GB से बड़ा partition एवं 4 GB से बड़ी फाइल स्टोर नहीं कर सकते | 
5.  FAT32 can be converted to NTFS but it is not so easy to convert NTFS back to FAT

No Responses

Leave a Reply