What is Keyboard in computers in Hindi कीबोर्ड मे कितने बटन कीस होते है

What is Keyboard in computers in Hindi

Keyboard क्या होता है : कंप्यूटर कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस होता है जिसमे keys की हेल्प से कंप्यूटर सिस्टम्स मे data एंटर किया जाता है | ये data लेटर्स, नंबर्स या सिम्बल्स किसी भी तरह का हो सकता है | कंप्यूटर मे इनपुट के लिए बहुत सारी इनपुट devices use होती है उनमे से सबसे जरुरी और ज्यादा काम मे आने वाली डिवाइस कीबोर्ड ही होती है कीबोर्ड की हेल्प से जब कंप्यूटर मे data एंटर किया जाता है तो इसको टाइपिंग कहते है | कीबोर्ड को प्राइमरी इनपुट डिवाइस भी कहा जाता है क्योकि कीबोर्ड के जितना आसान एंड फ्लेक्सिबल इनपुट डिवाइस कोई नहीं होता | एक कीबोर्ड मे लेटर्स, नंबर्स, स्पेशल करक्टेर्स के साथ साथ बहुत सारे specific फंक्शन्स परफॉर्म करने के लिए keys होती है | कीबोर्ड से कंप्यूटर सिस्टम मे डाटा एंटर करने के लिए कीबोर्ड का कंप्यूटर सिस्टम से connect होना जरुरी होता है एवं कीबोर्ड को केबल या wireless कनेक्शन से कंप्यूटर से कनेक्ट किया जा सकता है |

Click here – Computer hardware and networking notes

Amazon CYS Laptop backpack

Amazon CYS Laptop backpack

अगर आपने पुराना mechanical एंड electronic टाइपराइटर देखा हो तो आपको पता चलेगा की कंप्यूटर कीबोर्ड unke जैसे ही key अरेंजमेंट use करता है एवं पूरी तरह से वही लेआउट कीबोर्ड मे use किया गया है | स्टैण्डर्ड कीबोर्ड मे keys को Qwerty फॉर्म मे use किया जाता है | QWERTY के बारे मे जानने के लिए यहाँ क्लिक करे |

स्टैण्डर्ड क्लासिफिकेशन : Standard कीबोर्ड मे 3 प्रमुख टाइप की keys होती है –

  • अल्फान्यूमेरिक keys : स्टैण्डर्ड लेटर्स एंड नंबर्स कीस | 
  • पंक्चुएशन कीस : कोमा, पीरियड, सेमीकोलन आदि | 
  • स्पेशल कीस : फंक्शन कीस, कण्ट्रोल कीस, एरो कीस, कैप्स लोक् आदि | 

आइये देखते है की कीबोर्ड मे कौन कौन अलग अलग कीस होती है  –

  1. अल्फाबेट्स कीस
  2. नंबर्स कीस
  3. एडिटिंग कीस (Enter, Delete, Insert)
  4. मॉडिफिएर कीस (Control, Shift)
  5. नेविगेशन कीस (arrows keys for up, down, left, right) 
  6. लॉक कीस (Caps Lock, Scroll Lock)
  7. इनके आलावा अलग अलग ऑपरेटिंग सिस्टम्स मे एडिशनल special keys हो सकती है जैसे की Windows and Apple keys | 
  8. कीबोर्ड के टॉप पर फंक्शन कीस जैसे F1, F2, F3, F4 etc | ये फंक्शन कीस किसी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन मे स्पेसिफिक टास्क परफॉर्म करने के लिए उपयोग की जाती है जैसे कंप्यूटर के स्टार्ट होने पर BIOS मे एंटर करने के लिए F2 key आदि | 
  9. Separate न्यूमेरिक कीपैड
  10. LED indicators, wrist pad | 

keyboard कैसे काम करता है : जैसे की आपको बताया गया की कीबोर्ड मे बहुत सारे mechanical switches या push-buttons होते है जिनको keys कहा जाता है । जब कोई key पुश की जाती है उस key से जुड़े electrical सर्किट से कंप्यूटर को सिग्नल जाता है की specific key को screen पर शो किया जाये । कंप्यूटर का CPU उस character को कर्सर वाली लोकेशन पर प्लेस करते हुए स्क्रीन पर शो कर देता है ।

कीबोर्ड को कंप्यूटर से कैसे कनेक्ट करते है : कीबोर्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए निचे दिए गए तरीके use कर सकते है |

  1. केबल से – बहुत समय तक कीबोर्ड केबल मे PS/2 पोर्ट ऑप्शन था लेकिन अब सभी कंप्यूटर एंड कीबोर्ड मे USB का उपयोग होता है जो की PS/2 से फ़ास्ट होता है|
  2. वायरलेस (Bluetooth टेक्नोलॉजी से )

स्टैण्डर्ड डेस्कटॉप keyboard मे कितनी keys होती है : वैसे तो एक स्टैण्डर्ड डेक्सटॉप की बोर्ड मे 104 keys होनी चाहिए लेकिन आजकल हर कंपनी अलग अलग functions को ऐड करते हुए नयी keys introduce कर रही है जैसे multimedia keys । अगर आप विंडोज OS का लैपटॉप देखगे तो उसमे number of keys अलग मिलेंगे और अगर आप apple लैपटॉप देखंगे तो उसमे नंबर of keys अलग होगी । इसलिए ये कह पाना की आज की तारीख मे स्टैण्डर्ड कीबॉर्ड मे कितनी keys होती है बहुत मुश्किल है लेकिन अगर स्टैण्डर्ड define की बात की जाए तो 104 होनी चाहिए । स्टैण्डर्ड 104 keys का लेआउट निचे देखे – 

keyboard

keyboard

किसी भी लैपटॉप का कीबोर्ड डेक्सटॉप कीबॉर्ड की तुलना मे बहुत अलग होता है और इसका एक ही कारन है space लिमिटेशन एवं लैपटॉप का weight कम करना । ज्यादातर लैपटॉप कीबोर्ड छोटे बनाये जाते है इसलिए उनकी keys भी पास पास होती है इसलिए ही ज्यादातर लैपटॉप मे अलग numeric कीपैड नहीं मिलता । लैपटॉप मे कुछ जरुरी keys को include करवाने के लिए लैपटॉप मे functions keys के options दिए जाते है जिनमे कुछ combination को उपयोग करके आप special function perform कर सकते है । जैसे की Fn key के साथ up or down arrow keys को use करने से brightness कम या ज्यादा की जा सकती है ।

स्मार्टफोन एंड टेबलेट keyboards : स्मार्टफोन एवं टेबलेट मे physical कीबॉर्ड नहीं आता इसलिए इन devices मे on screen टच कीपैड (software) use किया जाता है ।

Read Also – What is Smartphone

Read Also – What is Mouse

2 Comments

  1. lovepreet kaur September 26, 2017
  2. PRABHA July 17, 2018

Leave a Reply